मनोरंजन

आलिया भट्ट की फिल्म  डार्लिंग्स का Review

MKNews.in | Desk

आलिया भट्ट (Alia Bhatt) कमाल की एक्ट्रेस हैं. ये हम सब जानते हैं. शेफाली शाह (Shefali Shah) जबरदस्त एक्ट्रेस हैं. ये भी हम सब जानते हैं…विजय वर्मा (Vijay Varma) भी किरदार को जी लेने वाले एक्टर हैं. ये भी हम सब जानते ही हैं…लेकिन क्या इससे डार्लिंग्स (Darlings) एक कमाल की फिल्म बन पाई? नेटफ्लिक्स का इस फिल्म का नाम डार्लिंग्स क्यों रखा गया. डार्लिंग क्यों नहीं क्योंकि इसके किरदार हर बात में एक एक्स्ट्रा S बोलते हैं.

कहानी
इस फिल्म की कहानी घरेलू हिंसा पर आधारित है. आलिया भट्ट यानि बदरुनिसा उर्फ बदरू पर उसका पति विजय वर्मा यानि हमजा अत्याचार करता है. वो सहती है, आलिया की मां शेफाली शाह यानि शमशूनिस उसे ये करने से रोकती है, लेकिन फिर एक दिन कुछ ऐसा होता है कि आलिया बदरू अपने पति के साथ घरेलू हिंसा करने लगती है. फिर क्या होता है, यही फिल्म में दिखाया गया है.

एक्टिंग
आलिया भट्ट ने कमाल की एक्टिंग की है. फिल्म को देसी मुंबई स्टाइल में बनाया गया है. उस बोली को आलिया ने गजब का पकड़ा है. आलिया की एक्टिंग देखकर आपको एक बार फिर से लगता है कि वो फिल्म इंडस्ट्री की बेहरतरीन हीरोनों में से एक है. शेफाली शाह ने भी अपने किरदार को जबरदस्त तरीके से निभाया है. विजय वर्मा ने ग्रे शेड के किरदार को ऐसे निभाया है कि आप उन्हें हमजा ही मानने लगते हैं. फिल्म में सभी की एक्टिंग अव्वल दर्जे की है.

फिल्म को डार्क कॉमेडी कहा गया है लेकिन कॉमेडी इसमें काफी कम है. फिल्म की स्क्रीनप्ले में दिक्कत है. फिल्म में चीजें बार बार रिपीट होती हैं. आपको लगता है कि यही चीज बार बार क्यों दिखा रहे हैं. फिल्म आपको बांधती तो है लेकिन सिर्फ आलिया विजय और शेफाली की एक्टिंग से. उनके किरदारों में आपको जान नजर आती है लेकिन कहानी कहने का तरीका कमजोर लगता है.

फिल्म का निर्देशन जसमीत के रीन ने किया है. ये उनकी पहली फिल्म है. उन्होंने निर्देशन तो अच्छा किया है लेकिन कहानी में मजा नहीं आया. कहानी भी जसमीत ने परवेज शेख के साथ मिलकर लिखी है. स्क्रीनप्ले पर मेहनत होती तो फिल्म में और मजा आता.  फिल्म का म्यूजिक विशाल भारद्वाज ने दिया है और म्यूजिक अच्छा है. अरिजीत सिंह की आवाज में लाइलाज गाना काफी अच्छा लगता है.

फिल्म घरेलू हिंसा की बात करती है लेकिन महिलाओं के खिलाफ घरेलू हिंसा पर सवाल उठाते उठाते ये पुरुषों के खिलाफ दिखाने लगती है और इसी वजह से इस फिल्म के बॉयकॉट की मांग भी उठने लगी थी. हालांकि ये मांग आजकल हर दूसरी फिल्म के लिए उठ जाती है.

आलिया शेफाली और विजय वर्मा की कमाल की एक्टिंग देखना चाहते हैं तो आप नेटफ्लिक्स पर डार्लिंग्स देख सकते हैं.

MK News

आम आदमी का अधिकार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button