राज्यहरियाणा

डीसी विक्रम ने की फरीदाबाद जिला मे जल शक्ति अभियान की समीक्षा

जल संचय अभियान के टारगेट और जागरूकता गतिविधियों को ऑनलाइन अपलोड करवाना बेहद जरूरी: विक्रम

MKNEWS.IN
फरीदाबाद, 19 सितम्बर। डीसी विक्रम ने कहा कि सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार आजादी के अमृत महोत्सव श्रृंखला के तहत जिला में जल संरक्षण को प्रोत्साहन देने के लिए जिला प्रशासन ने जनभागीदारी को बढ़ावा देने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आने वाली पीढ़ी के लिए जल का संरक्षण बहुत जरूरी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं और केंद्र व राज्य सरकारें जल संरक्षण के लिए चिंतनशील हैं और इस दिशा में वर्षा के जल सहित जल संरक्षण के बेहतर क्रियान्वयन के लिए तेजी से कार्य कर रही हैं।
डीसी विक्रम ने यह जानकारी विभिन्न विभागों के अधिकारियों और अन्य संस्थाओं के प्रतिनिधियों को जल शक्ति अभियान की समीक्षा बैठक को सम्बोधित करते हुए दी।
डीसी विक्रम ने कहा कि शासन-प्रशासन के साथ ही आम जनमानस का भी यह दायित्व बनता है, कि वह जल संरक्षण की दिशा में सहयोगी बनें।
डीसी विक्रम ने अधिकारियों को दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि जल संचय अभियान के टारगेट और जागरूकता गतिविधियों को ऑनलाइन अपलोड करवाना बेहद जरूरी है।
डीसी विक्रम ने एक एक करके सिंचाई, जिला विकास एवं पंचायत विभाग, शिक्षा, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग, एमसीएफ,वन सहित तमाम विभागों के अधिकारियों से विभाग वार जल शक्ति अभियान में किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की।
उन्होंने कहा कि वर्षा का मौसम है और इस वर्षा जल को संचय करते हुए हमें इसका सदुपयोग किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम सबको चाहिए कि हम भी जल संरक्षण में भागीदार बनते हुए सरकार का पूरा सहयोग करें और आने वाली पीढ़ी के लिए जल बचाएं।
डीसी ने कहा कि सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार आजादी के अमृत महोत्सव की श्रृंखला में जिला में सभी विभागों अपनी आईईसी गतिविधियों को तेजी से आगे बढ़ाएं ताकि लोगों को जल संचयन के लिए ज्यादा से ज्यादा जागरूक किया जा सके।
डीसी ने आगे कहा कि जल की एक-एक बूंद अमूल्य है, इसे व्यर्थ न जाने दें। जल है तो कल है। उन्होंने कहा कि जल शक्ति अभियान का मुख्य उद्देश्य पानी की बचत व संग्रह करना है। उन्होंने कहा कि बारिश के पानी का संग्रह करना है ताकि जमीन का जल स्तर ऊंचा उठ सके। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कैच द रेन जल शक्ति अभियान की शुरुआत की है और हम सबको इस अभियान में अपना पूरा सहयोग देना होगा एवं पानी की एक-एक बूंद का संचय करना होगा।
डीसी ने जिले वासियों से अपील की है कि वे अपने परिजन, मित्रों और आस-पड़ोस के लोगों को भी जल के विवेकपूर्ण उपयोग और उसे व्यर्थ न बहाने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि जल शक्ति अभियान का मुख्य उद्देश्य पर्यावरण, जल संरक्षण और भविष्य को सुरक्षित रखना है। बरसात के मौसम में जल संरक्षण कर व पौधारोपण का कार्य कर हम इस अभियान को सफल बना सकते हैं। उन्होंने कहा कि जल संरक्षण से जल स्तर ऊंचा होगा तथा वर्तमान व आने वाली पीढ़ी को इसका लाभ मिलेगा।
बैठक में डीडीपीओ राकेश मोर, सिंचाई विभाग के अधीक्षक अभियंता राजीव कुमार बत्रा, जिला परिषद की एसीईओ अंकिता अधिकारी, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उप निदेशक डॉक्टर वीरेंद्र आर्य, जिला शिक्षा अधिकारी मुनेष चौधरी, कार्यकारी अभियंता गजेन्द्र सिंह सहित तमाम विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

MK News

आम आदमी का अधिकार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button