अपराधउत्तर प्रदेशराजनीतिराज्य

अब्बास अंसारी का कोर्ट से बाहर मूछों पर ताव देना पड़ा भारी: माफिया मुख्तार अंसारी के बेटों की 7.51 करोड़ की संपत्ति कुर्क, वसीयत में मिली थी जमीन

जेल में बंद मुख्तार अंसारी के बेटों की सात करोड़ से अधिक की संपत्ति रविवार को कुर्क कर ली गई है। यह संपत्ति मुख्तार के बेटे विधायक अब्बास अंसारी और उमर को वसीयत में मिली थी।

mknews/मऊ /रिपोर्ट श्वेताभ सिंह

 

मऊ कोर्ट में फरार चल रहे माफिया मुख्तार अंसारी के बड़े बेटे विधायक अब्बास अंसारी पुलिस की आंखों में धूल झोंक कर अदालत में हाजिर होकर जमानत ले ली। उसके बाद विधायक अब्बास अंसारी द्वारा कोर्ट से बाहर निकलते हुए मूछों पर ताव देते हुए अपने विजयी होने का एहसास कराना जिला प्रशासन को शायद नागवार गुजर गया था। जिला प्रशासन ने शनिवार को 7.51 करोड़ की संपत्ति को कुर्क करने का आदेश दिया था। प्रशासन ने शनिवार को संपत्ति को कुर्क कर बोर्ड लगा दिया।

 

मुख्तार अंसारी ने मां के नाम पर खरीदी थी जमीन

उनके जहांगीराबाद में स्थित मुख्तार अंसारी द्वारा अपनी मां के नाम पर अपराध के द्वारा अर्जित धन से खरीदी गई जमीन को डीएम ने तत्काल प्रभाव से कुर्क करने का आदेश दे दिया था। छोटी दीपावली के अवसर पर जिला प्रशासन ने कुर्क करते हुए अंसारी बंधुओं का दिवाला निकाल दिया।

आदेश के 18 घंटे बाद संपत्ति को कर दिया कुर्क

डीएम मऊ अरुण कुमार ने मुख्तार अंसारी के बेटों की 7 करोड़ 51 लाख 50 हजार की संपत्ति को कुर्क करने 18 घंटे पहले ही आदेश दिया था कि जिसके बाद पुलिस प्रशासन और राजस्व कर्मियों ने मिलकर पूरी संपत्ति को। क्षेत्राधिकारी धनंजय मिश्रा के नेतृत्व में तीन थानों की पुलिस के साथ पहुंचकर कुर्क कर दिया।

 

दोनों भाइयों के नाम पर आ गई थी संपत्ति 

क्षेत्राधिकारी नगर धनंजय मिश्रा ने बताया कि यह संपत्ति मुख्तार अंसारी द्वारा अपने नाम मौजा जहांगीराबाद,परगना व तहसील सदर, जनपद मऊ में आराजी नंबर 168, रकबा 45.45 एयर व आराजी नंबर 458, 169/1 (कुल 2 गाटा) रकबा 286 एयर व मौजा जहांगीराबाद में ही खेवट नंबर 1/1 भूखंड संख्या 295 रखवा 0.345 हेक्टेयर का 1/3 यानि 0.115 हेक्टेयर जमीन। अभियुक्त माफिया अंसारी द्वारा अपराध कर अवैध रूप से अर्जित धन से अपनी माता राबिया बेगम के नाम से क्रय किया गया था, जो मुख्तार अंसारी की मां मृत्यु के पश्चात क्रमशः प्रथम व द्वितीय आराजी नंबर में दर्ज वसीयतनामें के अनुसार अब्बास अंसारी व उमर अंसारी के नाम पर हो गया है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button