राजनीतिराष्ट्रीय

L K Adwani Turns 95: 95 वर्ष के हुए बीजेपी सह संस्थापक लालकृष्ण आडवाणी, जन्मदिन पर बधाई देने पहुंचे पीएम मोदी व रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

जनमदिन पे अन्य मंत्रीयो ने भी दी बधाई।

mknews/ नई दिल्ली/रिपोर्ट श्वेताभ सिंह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी के 95वें जन्मदिन पर उन्हें बधाई देने उनके आवास पहुंचे।पीएम मोदी करीब आधे घंटे तक लाल कृष्ण आडवाणी के घर पर रहे. उन्हें जन्मदिन की बधाई दी। पीएम मोदी ने इस दौरान लाल कृष्ण आडवाणी से आशीर्वाद लिया।आडवाणी के जन्मदिन पर पीएम मोदी हर साल उन्हें बधाई देने पहुंचते हैं। उनसे आशीर्वाद लेते हैं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी आडवाणी को जन्मदिन की बधाई देने के लिए उनसे मिलने गए।पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, ”  आडवाणी जी के आवास पर गए और उन्हें जन्मदिन की बधाई दी। भारत के विकास में उनका योगदान अविस्मरणीय है। उनकी दूरदृष्टि और बुद्धि के लिए पूरे भारत में उनका सम्मान किया जाता है। भाजपा को बनाने और मजबूत करने में उनकी भूमिका अद्वितीय है। मैं उनके लंबे और स्वस्थ जीवन की कामना करता हूं।”

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा, “आदरणीय आडवाणी जी के आवास पर गए और उन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएं दीं। मैं ईश्वर से उनके अच्छे स्वास्थ्य और लंबी उम्र की कामना करता हूं।”

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी भाजपा के वरिष्ठ नेता को बधाई दी और कहा कि सरकार में रहते हुए उन्होंने देश के विकास में अमूल्य योगदान दिया। गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कहा “आदरणीय लालकृष्ण आडवाणी जी को जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई। आडवाणी जी ने एक ओर जहां अपनी निरंतर मेहनत से देश भर में संगठन को मजबूत किया, वहीं दूसरी ओर देश के विकास में अमूल्य योगदान दिया। सरकार। मैं ईश्वर से उनके अच्छे स्वास्थ्य और लंबी उम्र की प्रार्थना करता हूं।”

विदेश मंत्री एस जयशंकर जन्मदिन पर शुभकामनाएं देते हुए ट्वीट कर कहा “आदरणीय लालकृष्ण आडवाणी जी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं। राष्ट्र के लिए उनके कई योगदान और सेवाएं हमें हमेशा प्रेरित करती रहेंगी।”

केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री और आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बधाई दी और कहा, “बीजेपी की अग्रणी रोशनी में से एक, भारत के राजनीतिक दिग्गज, एक अच्छे इंसान और अनुभवी नेता श्री लालकृष्ण आडवाणी जी को जन्मदिन की बधाई।”

लालकृष्ण आडवाणी का जन्म 8 नवंबर 1927 को अविभाजित भारत के सिंध प्रांत में हुआ था। उनके पिता का नाम कृष्णचंद डी आडवाणी और मां का नाम ज्ञानी देवी था। पाकिस्तान के कराची में उन्होंने अपनी स्कूली पढ़ाई की। बाद में उन्होंने सिंध में कॉलेज में दाखिला लिया। जब देश का विभाजन हुआ तो उनका परिवार मुंबई आ गया. यहां पर उन्होंने कानून की शिक्षा ली। आडवाणी जब 14 साल के थे तभी संघ से जुड़ गए थे।

1990 में निकाली थी रथयात्रा 

आडवाणी ने 25 सितंबर 1990 को राममंदिर निर्माण के लिए समर्थन जुटाने की खातिर सोमनाथ से रथयात्रा शुरू कर दी। इस रथ यात्रा ने काफी सुर्खियां बटोरी। आडवाणी अपने जोशीले और तेजस्वी भाषणों की वजह से हिन्दुत्व के नायक बन गए। वे कई बार बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी रहे। आडवाणी 2002 से 2004 तक देश के उप प्रधानमंत्री भी रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button