अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

वाराणसी: सिगरा क्षेत्र में भाजपा नेता की लाठी -डंडे से पीठ कर हत्या, हमलावर की तलाश में पुलिस दे रही है दबिश

बीयर पीना मना करना नशेड़ियों को नागवार लगा,लाठी डंडे से पीटकर वृद्ध की हत्या और बेटे को मार के किया घायल

mknews/वाराणसी/ रिपोर्ट श्वेताभ सिंह

 

वाराणसी के सिगरा क्षेत्र के जयप्रकाश नगर के शराब ठेके के पास नशे में धुत मनबढ़ों ने लाठी-डंडे से पीट-पीटकर बुजुर्ग की हत्या कर दी गई। बुजुर्ग को बचाने के पहुंचे बेटे को भी हमलावर ने मार के घायल कर दिया। घायल को अस्पताल में इलाज कराया जा रहा है।

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश, एडिशनल सीपी संतोष सिंह, वरुणा जोन डीसीपी आरती सिंह सहित आला अधिकार घटना स्थल पर पहुंचे।

 

बीयर पीना मना करना नशेड़ियों को नागवार लगा

 

मिली जानकारी के अनुसार भाजपा की और से पार्षदी का चुनाव लड़ चुके पशुपतिनाथ सिंह का जयप्रकाश नगर तिराहा पर कटरा है। कटरे में कई दुकान हैं जिसमे वाइन शॉप भी है। रात करीब 8.30 बजे कुछ लोग बीयर ठेके के बाहर बीयर और शराब पी रहे थे। इसी दौरान उनमें बहस भी हो रही थी और वे रह-रहकर हंगामा कर रहे थे। काफी देर से हंगामा देख बीयर ठेके की दुकान के परिसर के मालिक भाजपा नेता पशुपतिनाथ सिंह ने विेरोध किया। यह बात नशेड़ियों को नागवार लगी और वह विवाद करने लगे। इतने में पशुपतिनाथ सिंह के परिवार के लोग और आसपास के लोग आ गये।

लेकिन इतने लोगों को देखने के बाद भी नशे में धुत मनबढ़ शांत नही हुए। इसके बाद मनबढ़ों ने लाठियां लेकर आए ओर हमला शुरू कर दिया। हमलावरों ने पशुपतिनाथ सिंह समेत दो लोगों को मारपीट कर अधरमरा कर दिया। दोनों के सिर में गंभीर चोटें आई। दोनों को मरा समझ हमलावरों को कुछ होश आया और वह भागने लगे। इतने में सूचना पर पुलिस पहुंची। पुलिस घायलों को अस्पताल ले गई जहां चिकित्सक ने पशुपतिनाथ सिंह को मृत घोषित कर दिया।

 

दूसरे घायल का इलाज कराया जा रहा है। पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने बताया कि हमलावर उसी क्षेत्र के हैं और उनकी पहचान कर ली गई है। हत्यारोपितों की गिरफ्तारी के लिए 5 पुलिस टीमें गठित कर दी गई हैं और लगातार दबिश जारी है। जल्द ही आरोपित गिरफ्त में होंगे। मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपितों को कड़ी से कड़ी सजा मिलेगी।

बता दे पशुपतिनाथ सिंह जयप्रकाश नगर क्षेत्र में एक साफ छवि के नेता माने जाते थे। पशुपतिनाथ सिंह को कैंट विधायक सौरभ श्रीवास्तव के करीबी माने जाते थे पशुपतिनाथ सिंह ने 2005 में भाजपा का हाथ थामा था जिसके बाद उन्होंने भाजपा के टिकट पर दो बार पार्षद का चुनाव भी लड़ा था बताते चलें कि पशुपतिनाथ सिंह क्षत्रिय समाज में अपनी दमदार छवि रखते थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button